भोपालछत्तीसगढ

भोपाल-नर्मदापुरम रेल ट्रैक पर के बी- ट्रैक स्टूडेंट का मिला शव

भोपाल,न्यूज़ धमाका :- भोपाल-नर्मदापुरम रेल ट्रैक पर B.Tech स्टूडेंट का शव मिला है। घटनास्थल मिडघाट सेक्शन में बरखेड़ा से थोड़ी दूर उसकी किराए से ली गई स्कूटी भी मिली है। मोबाइल उसके पास ही मिला है। स्टूडेंट के नाम से बनी इंस्टाग्राम ID से उसके पिता और दोस्तों के वाट्सऐप पर स्क्रीनशॉट आया। स्क्रीनशॉट पर स्टूडेंट की फोटो है।

छात्र के बारे में जानकारी मिली कि वह शेयर बाजार में निवेश करता था। आशंका है कि उसे घाटा लगा होगा और वह तनाव में आ गया होगा। हालांकि, अभी पीएम रिपोर्ट समेत अन्य तथ्यों की जानकारी जुटाने के बाद ही उसकी मौत की वजह का खुलासा हो सकेगा। पुलिस हर पहलुओं से जांच कर रही है। अभी पता नहीं चला है कि उसे कितना घाटा हुआ है।

इस पर लिखा है- गुस्ताख-ए-नबी की एक ही सजा, सिर तन से जुदा…।टीटी नगर TI चैन सिंह रघुवंशी ने बताया कि प्रारंभिक जांच में मामला सुसाइड का लग रहा है।

मैसेज मिलते ही उसके दोस्त टीटी नगर थाने पहुंचे। इसी बीच रायसेन पुलिस से स्टूडेंट का शव मिलने की सूचना मिली। कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि स्टूडेंट की मौत के बाद उसका मोबाइल कौन ऑपरेट कर रहा था। छात्र दो बहनों में इकलौता भाई था।

वह दो साल तक इंद्रपुरी में हॉस्टल में रहा। हाल ही में हॉस्टल छोड़कर जवाहर चौक शास्त्री नगर में दोस्तों के साथ रूम शेयर कर रह रहा था। निशांक ने अपनी फेसबुक प्रोफाइल में खुद को नोएडा में सॉफ्टवेयर डेवलपर बताया है।

मृतक के दोस्तों ने बताया कि छात्र के मोबाइल, इंस्टाग्राम, फेसबुक ID की जानकारी उसके एक दोस्त प्रखर को थी। पुलिस प्रखर से पूछताछ कर रही है। पुलिस इसे सुसाइड मान रही है। पुलिस के मुताबिक, मूलत: सिवनी मालवा निवासी निशांक राठौर (20) पुत्र उमाशंकर राठौर भोपाल के ओरियंटल कॉलेज में B.Tech 5th सेमेस्टर का स्टूडेंट था।

बहन से मिलने निकला था

रविवार दोपहर तीन बजे भोपाल के साकेत नगर परीक्षा केंद्र में एग्जाम देने आई बड़ी बहन से मिलने निकला था। यह बात उसने अपने चचेरे भाई शशांक को बताई थी। रात 8 बजे उसके पिता और दोस्तों के पास उसके मोबाइल से उसका फोटो लगा मैसेज आया। मैसेज पढ़कर घबराए पिता ने बेटे के दोस्तों को फोन किया।

दोस्त राज, चचेरे भाई शशांक ने टीटी नगर थाने पहुंचकर उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई। तब तक रायसेन पुलिस उसका शव बरखेड़ा इलाके के रेलवे ट्रैक से बरामद कर चुकी थी। निशांक के पिता उमाशंकर राठौर हरदा में सहकारिता विभाग में पदस्थ हैं। घटना की जानकारी लगने के बाद देर रात वह भी बरखेड़ा पुलिस चौकी पहुंचे। बेटे का शव देखने के बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई।

CCTV में अकेला जाता दिखा, रास्ते में पेट्रोल भराया

पुलिस ने भोपाल से रायसेन के बीच के CCTV फुटेज खंगाले। निशांक अकेले ही स्कूटी से जाते हुए दिख रहा है। पुलिस ने मंडीदीप तक के फुटेज चेक किए, जिसमें वह अकेला ही दिखा। टीटी नगर TI चैन सिंह रघुवंशी ने बताया कि रास्ते में उसने 450 रुपए का एक पेट्रोल भराया, तब भी वह अकेला था।


तीन बजे के बाद फोन रिसीव करना किया बंद

निशांक के चचेरे भाई शशांक ने बताया कि उसने अपने दोस्त राज से रविवार दोपहर 12 बजे फोन पर बात की थी। इसके बाद उसकी अपने पापा से बात हुई थी। शशांक का कहना कि देर शाम जब हम लोगों ने फोन लगाया तो रिसीव नहीं हुआ। यह सिलसिला देर रात तक चला। जब पता चला कि उसका शव रायसेन में मिला है, तब भी उसका फोन चालू था।

छात्र के नाम से भड़काऊ पोस्ट

छात्र के लापता होने को लेकर दो मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। एक में निशांक राठौर नाम के स्टेटस पर धार्मिक पोस्ट होना शेयर दिखा रहा। दूसरी पोस्ट में निशांक के लापता होने का मैसेज वायरल हो रहा। 

IG, DIG, SP रात साढ़े 3 बजे तक जांच में जुटे रहे

नर्मदापुरम रेंज IG दीपिका सूरी, DIG जेएस राजपूत, SP विकास कुमार शहवाल बरखेड़ा पुलिस चौकी पहुंचे। वह रात करीब साढ़े तीन बजे तक घटना को लेकर जांच करते रहे। SP विकास कुमार ने बताया कि प्रारंभिक जांच में छात्र के नाम से बनी ID से एक पोस्ट होने की पुष्टि हुई है।

मोबाइल की जांच के बाद ही यह पता चल सकेगा कि छात्र के मोबाइल से यह पोस्ट की गई या फिर किसी दूसरे मोबाइल से ID ओपन कर पोस्ट अपलोड की गई। सोमवार को छात्र का पीएम होगा। पुलिस घटना को लेकर रीक्रिएशन भी कराएगी।

480 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से किराए पर ली स्कूटी

रायसेन की बरखेड़ा पुलिस चौकी पहुंचे निशांक के परिजन ने बताया कि वह गाड़ी चलाने का बहुत शौकीन था। ऐसे में पिता ने गाड़ी घर में रखवा दी थी। शौक पूरा करने के लिए वह भोपाल में 480 रुपए की हर रोज किराए पर गाड़ी लेता था। इसकी जानकारी उसके पिता को नहीं थी।

Chhattisgarh News Dhamaka Team

स्टेट हेेड छत्तीसगढ साधना प्लस न्यूज ( टाटा प्ले 1138 पर ) , चीफ एडिटर - छत्तीसगढ़ न्यूज़ धमाका // प्रदेश उपाध्यक्ष, छग जर्नलिस्ट वेलफेयर यूनियन छत्तीसगढ // जिला उपाध्यक्ष प्रेस क्लब कोंडागांव ; हरिभूमि ब्यूरो चीफ जिला कोंडागांव // 18 सालो से पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय। विश्वसनीय, सृजनात्मक व सकारात्मक पत्रकारिता में विशेष रूचि। कृषि, वन, शिक्षा; जन जागरूकता के क्षेत्र की खबरों को हमेशा प्राथमिकता। जनहित के समाचारों के लिये तत्परता व् समर्पण// जरूरतमंद अनजाने की भी मदद कर देना पहली प्राथमिकता //

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!