गरियाबंदछत्तीसगढ

बेहराडीह और पायलीखंड हीरा खदानों में सुरक्षा व्यवस्था नहीं, आए दिन हो रही तस्करी

मैनपुर,न्यूज़ धमाका :- तहसील मुख्यालय मैनपुर से लगभग 22 किमी दूर शोभा थाना को पारकर स्कूटी में सवार होकर पिता-पुत्र 745 नग हीरा (अनुमानित लागत 50 लाख) मैनपुर क्षेत्र के विश्व प्रसिध्द हीरा खदान पायलीखंड से हीरा की तस्करी कर ओडिशा जंगल रास्ते से जा रहे थे।

इसकी जानकारी मुखबीर के माध्यम से शोभा पुलिस को लगने पर शोभा थाना की स्पेशल टीम गठित कर मैनपुर शोभा ओडिशा जंगल मार्ग कुसियारबरछा कचना धुर्वा मंदिर के पास मंगलवार शाम लगभग 6 बजे नाकाबंदी आरोपितों को पकड़ा गया। आरोपित खोकन ढली (48) एवं विप्लव ढली (19) निवासी बारसुन्डी टोला, थाना रायघर जिला नवरंगपुर ओडिशा हैं।

इस कार्रवाई में थाना प्रभारी शोभा जयसिंह धुर्वे, प्रधान आरक्षक पुरूषोत्तम यादव, आरक्षक सोनालाल यादव, स्पेशल टीम प्रधान आरक्षक अंगद राव वाघ, प्रधान आरक्षक चुणामणी देवता, प्रधान आरक्षक जयप्रकाश मिश्रा, आरक्षक यादराम ध्रुव, हरिश साहू, सुनील पाठक का सराहनीय योगदान रहा है।

अब तक का सबसे बड़ा मामला

ज्ञात हो कि गरियाबंद जिला के भीतर पुलिस के द्वारा हीरा तस्करी के सैकड़ों मामले सामने आये है जिसमें कई तस्करों को पकड़ा गया है और अब तक हजारों नग हीरा करोड़ों की पुलिस ने बरामद किया है जिसमें सैकड़ों आरोपितों को सलाखो के पिछे भेजा गया है लेकिन आज मैनपुर विकासखंड के थाना शोभा के अंतर्गत सबसे बड़ा हीरा के अवैध तस्करी का मामला सामने आया है।

सुरक्षा हटने के बाद लगातार अवैध उत्खनन जारी

तहसील मुख्यालय मैनपुर से लगभग 38 किमी दूर विश्व के प्रसिध्द हीरा खदान पायलीखंड एवं मैनपुर से 8 किमी दूर बेहराडीह हीरा खदान का मामला न्यायालय में होने के कारण छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के 22 वर्षो बाद भी सरकारी दोहन शुरू नहीं हो पाया है और इन हीरा खदानों का पता लगभग 34 वर्ष पूर्व छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण से पहले पता चला था।

उसके बाद हीरा खदान के एक बड़े हिस्से को तार के बाड़ों से घेरकर सुरक्षित किये जाने का प्रशासनीक उपाय किया गया तो वहीं जांगड़ा पायलीखंड में हीरा खदान की सुरक्षा के लिये बीएसएफ की कंपनी तैनात की गई थी और बेहराडीह हीरा खदान की सुरक्षा वन विभाग के जिम्मेदारी में था।

लेकिन क्षेत्र में नक्सली गतिविधि तेज होने के कारण लगभग 15 वर्ष पहले वर्ष 2006-07 में पायलीखंड हीरा खदानों से सुरक्षा में तैनात जवानों को वापस बुला लिया गया तो बेहराडीह हीरा खदान की सुरक्षा से वन विभाग ने हाथ खड़े कर लिया इसके बाद से यह दोनों हीरा खदान की सुरक्षा भगवान भरोसे है। और समय समय पर इन हीरा खदानो मे अवैध खुदाई की खबर निकलकर सामने आती है।

क्या कहते है पुलिस के अधिकारी

गरियाबंद जिले के पुलिस कप्तान जेआर ठाकुर ने बताया जिले में तस्करों के खिलाफ एवं अवैध गतिविधियों मे संलिप्त रहने वालो के खिलाफ लगातार कार्रवाई जारी है। पूर्व मे भी माईनिंग एक्ट, वन्यप्राणी अधिनियम, नारकोटिक एक्ट, अबकारी अधिनियम के तहत लगातार कार्रवाई की गई है और आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी। पुलिस द्वारा लगातार हीरा खदान क्षेत्रों मे सर्चिग जारी है और आगे भी जारी रहेगी।

वहीं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस अनुज कुमार गुप्ता ने बताया कि मंगलवार शाम मुखबीर की सूचना के बाद शोभा थाना में स्पेशल टीम गठित कर ओडिशा रायघर जाने वाले मार्ग पर कचना धुर्वा मंदिर के पास वाहनो की सघन चेकिंग शुरू कर दिया गया था तभी स्कूटी मे सवार दोनों पिता पुत्र पहुंचे जो भागने की फिराक में थे पुलिस द्वारा संदिग्ध व्यक्तियों को घेराबंदी कर सधनता से पूछताछ की गई व चेकिंग के दौरान छिपाकर रखे 745 नग हीरा जब्त किया गया।

Chhattisgarh News Dhamaka Team

स्टेट हेेड छत्तीसगढ साधना प्लस न्यूज ( टाटा प्ले 1138 पर ) , चीफ एडिटर - छत्तीसगढ़ न्यूज़ धमाका // प्रदेश उपाध्यक्ष, छग जर्नलिस्ट वेलफेयर यूनियन छत्तीसगढ // जिला उपाध्यक्ष प्रेस क्लब कोंडागांव ; हरिभूमि ब्यूरो चीफ जिला कोंडागांव // 18 सालो से पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय। विश्वसनीय, सृजनात्मक व सकारात्मक पत्रकारिता में विशेष रूचि। कृषि, वन, शिक्षा; जन जागरूकता के क्षेत्र की खबरों को हमेशा प्राथमिकता। जनहित के समाचारों के लिये तत्परता व् समर्पण// जरूरतमंद अनजाने की भी मदद कर देना पहली प्राथमिकता //

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!